Image
Bhagya Mandir

Spiritual Guidance | Life Mentoring

Image

Guru Jis Guidance

"भाग्य मदिर परिवार " परम् श्रद्धये श्री सौरभ गुरुजी के ार्गदर्शन से अस्तित्व में आया । कुछ र्षों पूर् जो सिलसिला 15 लोगो से आरं हुआ था आज व लगभव 2 लाख लगों तक पहुच ुका है और लगातार बढ़ता चला जा रहा है । संस्था के सुकार्यो से प्रभावित होकर जनसामान्य लगातार संस्थ से जुड़कर उसके कार्यो में सहयोग कर रा है । संस्ा का सबसे पहा कार्य यह है कि संस्था ुरुजी और श्द्धालुओं के बीच का सेतु ै । श्रद्धाुयों की गुरजी से बात करवाना , गुरुज से भेंट करवना और गुरुज से ऑनलाइन माध्यमों से श्रद्धालुओं ो जुड़ने का सुअवसर संस्थ के माध्यम से ही होता है प्रत्येक दिन भाग्य मंदिर परिवार के स्वयंसेवी का कार्य श्रद्धालुओं के कॉल लेना उनका नामो को सूचबद्ध करना औ गुरुजी की समय की उपलब्धता के अनुसार सभी श्रद्धालुओं को उनका मार्गदर्शन प्राप्त हो यह सुनिश्चित करना होता है । भाग्य मंदर परिवार मे लगभग 200 स्थाी और 1000 अस्थयी स्वयंसेवी लगातार लोक हित मे कार् करते रहते ह । भाग्य मंिर परिवार जकल्याण के वभिन्न कार्य करता रहता ह । परंतु सबस महत्वपूर् तीन कार्य जनपर भाग्य मदिर परिवार ा सबसे अधिक ध्यान रहता है वह है शिक्षा , चिकित्स और स्वास्थय ।

Read More
Discover

एक साथ आएँ, प्ररित हों तथा पने भीतर, अपने समुदाय व गत में शांत की स्थापना रें

Spiritual Guidance

क्ा आपको कभी ऐसा लगा है की ब आप कुछ गलत करने जा रहे ोते है तो आपके एक के बाद क काम बिगड़न लगते है या िर आपके मन मं बार बार ना करने के लिए ोर्स पैदा हता है

Life Mentoring

गुरु ो ईश्वर से भ ऊपर का दर्जा दिया गया ह और इसका कार यह है कि ईशवर आपके सामे आकर आपको सी रास्ते का पता नहीं बता सकते हैं इसिए ईश्वर ने ुरु रूपी सुदर रचना को मानव के सामने प्रस्तुत किया।

Community Services

जब कोई व्यक्ति या व्यक्तियो का समूह बिना पैसा लिए कसी समुदाय क उत्थान के लए कार्य करत है

Astrology Services

कैसे होगा करियर, कैा चलेगा व्यपार, किसे मिलेगी तरक्की क्या आप जीवन में किसी चिता से परेशा है? क्या आप सका उपयुक्त समाधान नहीं खोज पा रहे हं?

Education for Underprivileged

बालक े व्यक्तितव का सर्वांीण विकास- शि्षा बालक के व्यक्तित्व ा सर्वांगी विकास करती ै। उसका मानिक व बौद्धि विकास शिक्ा प्राप्ति े बाद ही होता है।

Yoga

योग (संस्कत: योगः ) एक आ्यात्मिक परक्रिया है िसमें शरीर, न और आत्मा को एक साथ लान (योग) का काम ोता है। 'योग' शब्द तथा इसी प्रक्रिय और धारणा हि्दू धर्म, जैन धर्म और बौ्ध धर्म में ्यान प्रक्िया से सम्ब्धित है।

भागय मंदिर िव्य दरबार

भाग्य मंदिर परिवार परम् श्रद्धये श्री सौरभ गुरुजी के मार्गदर्शन से अस्तित्व में आया । कुछ वर्ों पूर्व जो िलसिला 15 लोो से आरंभ हु था आज वह लगव 2 लाख लोगों तक पहुच चुक है और लगाता बढ़ता चला जा रहा है । संसथा के सुकारयो से प्रभाित होकर जनसामान्य लगातर संस्था से जुड़कर उसके कार्यो में सहयोग कर रहा ह ।

प भी जुड़ सकते है
Image Image
Experience

भाग्य मंिर दिव्य दरार एक ऐसा वटवृक्ष है जहां सभी प्रकार के लोग एक जु होकर समाज कल्याण का कार्य करते है ।

Testimonials

What Followers say

Our BLog

News & articles updates

Image
राम राम

गृह शांि के लिए उपा

प्रात स्नान के उरांत एक पातर में जल भर लेंगे । एक चममच गंगाजल औ एक चम्मच गाय या भैंस कचचा दूध उसमे िला लेंगे । अब अञ्जलि मं जल लेकर उी पात्र में ल को डाल देते हैं और प्र्येक बार ॐ शंति हरे मंतर का जप करेंगे । 108 बार मत्र का जप करे उस पात्र के जल को स्नाघर और शौचाल को छोड़कर पूे घर मे छिड़क दें और बचा हआ जल पौधों या क्यारी में डाल दें ।

Read More
Image
राम राम

आत्मशुद्धि े लिए उपाय

सोमवार को एक लोटे मे जल ले ले और समे कनेर के ुष्प डाल ले (घर के सदस्ों की संख्य से 2 अधिक) और सुबह स्नान के उपरांत शिवलिंग पर जल अ्पित कर दीजए और उसके उपांत एक पुष् प्रसाद के रूप में ले ले र उसे लाल / पले रंग के कपड़े में बांधकर पुरुष दाये बाजू में और हिलाएं बाई ाजू में बां लें या गले े पहन लें । ्रत्येक 15 दन में पुष्प े बदल लें ।

Read More
Image
राम रम

सकारात्क ऊर्जा के लए अभिमंत्रत दिव्य माल

गुरुज से प्रसाद के रूप में प्ाप्त माले क रात्रि में च्चे दुग्ध ें भिगोकर र दे । प्रात स्नान के उपरांत माले को गंगाजल से सनान करवाकर स माले से 2 य 5 माला ॐ नमः िवाय का जप करे । उसके उपांत माले को ले मे धारण कर ले या उससे ्रतिदिन जप रें ।

Read More